अमरीकी टेनिस चैम्पियन क्रिस एवर्ट ने 1972 में विंबलडन में जब अपना पहला मैच खेला, तब वो मात्र 17 वर्ष की थीं। एवर्ट ने, 18 ग्रैंड स्लैम® एकल खिताबों और अपने करियर में 90 प्रतिशत जीत के रिकॉर्ड आंकड़ों के साथ, 1989 में सन्यास लिया। आज, वो अपने जीवन के "तीसरे चरण" में प्रवेश कर रही हैं, इसलिए टेनिस द्वारा उनको मिले आत्मविश्वास, और उनकी रोलेक्स जो उनके जीवन के सभी चरणों का प्रतिनिधित्व करती आई है, दोनों को पीछे मुड़ कर देख रही हैं।

जब मैं छोटी थी तो मैं बहुत शर्मीली थी, लेकिन जब मैंने टेनिस खेलना शुरू किया, तो कोर्ट ही मेरा मंच बन गया। मैंने एक ऐसी चीज़ खोज ली थी, जिसमें मैं अच्छी थी और इसने मेरे आत्मविश्वास को बहुत बेहतर बनाया। मुझे अच्छा लगता था जब लोग मेरे लिए तालियाँ बजाते थे, मुझे ध्यान आकर्षित करना पसंद था। टेनिस ने मुझे मेरे खोल से बाहर निकाला।

13 वर्ष की उम्र में, मुझे यह एहसास हुआ कि मैं देश की शीर्ष महिलाओं के काफी करीब हूँ। और तभी मैंने सफलता का स्वाद चखा। तभी से मुझे समझ में आया कि मेरे अंदर वो बात थी, और मैं वास्तव में यकीन करने लगी कि मैं उनमें से एक बन सकती थी। लेकिन मैंने कभी सोचा भी नहीं था कि, मैं दुनिया कि नंबर वन खिलाड़ी को हरा दूँगी, और खासकर 15 साल की उम्र में तो बिल्कुल भी नहीं। वही इस सब कुछ की शुरुआत थी।

एक टेनिस मैच खेलना काफी हद तक जीवन की तरह है। अगर आप हार भी रहे होते हैं, तो भी आप वापिस आ सकते हैं। और मैं मानती हूँ कि, यदि आप जीवन में हार भी रहे हों, आप तब भी अपने जीवन की दिशा बदल सकते हैं। यह आपको दृढ़ संकल्प, निरंतर प्रयास करने और कभी न हार मानने के बारे में बहुत कुछ सिखाता है। यह आपको अपने बारे में बहुत कुछ सिखाता है, आपको आत्मविश्वास भी देता है, चाहे आप कोर्ट में हों या कोर्ट के बाहर।

मुझे ऐसा लगता है जैसे मेरा जीवन तीन हिस्सों में बंटा हुआ है। मेरे पहला हिस्सा बस मेरे टेनिस , मेरे करियर, नंबर वन बनने और खुद के और मेरी महत्वाकांक्षाओं के बारे में सोचने से संबंधित है। मेरा दूसरा हिस्सा मेरे परिवार, मेरे तीन बेटों को बड़ा करने, शादी करने और बस घर पर रहने का आनंद लेने से संबंधित है। और अब मैं अपने तीसरे हिस्से में प्रवेश कर रही हूँ जो मेरे अंदर की शांति की तलाश करने से संबंधित है।

जब मैं अपनी रोलेक्स को देखती हूँ, तो मुझे 18 ग्रैंड स्लैम® नहीं दिखाई देते, बल्कि मैं एक साथ अपने जीवन के विभिन्न चरणों का एक प्रतिबिंब देखती हूँ: न केवल मेरे टेनिस में, बल्कि मेरे जीवन, मेरे व्यापारिक जीवन और वो सभी लक्ष्य जो मैंने प्राप्त किए हैं उनमें भी | यह मेरा ही एक अंग है।

इसमें न केवल सबसे सफलतम लोग शामिल हैं, बल्कि सबसे अच्छे खिलाड़ी, सबसे अच्छे व्यवहार के लोग भी शामिल हैं, यह बस क्लास और सत्यनिष्ठा से संबंधित है।

मुझे रोलेक्स पहनने पर गर्व होता है, मुझे ऐसा महसूस होता है जैसे मैं उत्कृष्टता के एक अति-विशिष्ट क्लब की सदस्य हूँ, जिसमें बस सफल और उत्तम दर्जे के लोग हैं। जब मैंने 25 से अधिक वर्ष पहले रोलेक्स पहनने की शुरुआत की थी, तब यह जैकी स्टीवर्ट और अर्नोल्ड पामर और जैक निकलस के बारे में थी और बाद में ज़्यादा रॉजर फेडरर के बारे में बन गई। यह फसल का सबसे अच्छा हिस्सा है। इसमें न केवल सबसे सफलतम लोग शामिल हैं, बल्कि सबसे अच्छे खिलाड़ी, सबसे अच्छे व्यवहार के लोग भी शामिल हैं, यह बस क्लास और सत्यनिष्ठा से संबंधित है। मैं जब अपनी घड़ी की ओर देखती हूँ, तो मुझे एक विशिष्ट क्लब दिखाई देता है, जिसका हिस्सा बनने पर मैं बहुत, बहुत सम्मानित हूँ।

क्रिस एवर्ट की घड़ी

ऑयस्टर परपेचुअल डेटजस्ट 31

यह पेज शेयर करें